रोहित शर्मा ने 2019 में शानदार प्रदर्शन किया था. वो पिछले साल वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. साथ ही वर्ल्ड कप में भी उन्होंने रिकॉर्ड 5 शतक जड़े और सबसे ज्यादा रन बनाए.

लिमिटेड ओवर्स में भारतीय क्रिकेट टीम के उप-कप्तान रोहित शर्मा ने बीते 2-3 सालों में जबरदस्त प्रदर्शन किया है. अपने प्रदर्शन के दम पर रोहित ने वनडे और टी20 में कई रिकॉर्ड्स भी बनाए हैं. वहीं टेस्ट में रोहित ने ओपनिंग की अच्छी शुरुआत की है. रोहित के इसी प्रदर्शन का नतीजा है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने देश के सबसे बड़े खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न के लिए उनका नाम भेजा है.

शिखर-ईशांत अर्जुन अवॉर्ड के लिए नामित

रोहित के अलावा पुरुष टीम के दो सीनियर खिलाड़ियों शिखर धवन और ईशांत शर्मा को प्रतिष्ठित अर्जुन अवॉर्ड दिए जाने की सिफारिश की है. इनके अलावा महिला टीम की ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा को भी खेल रत्न के लिए नामांकित किया है.

बीसीसीआई ने शनिवार 30 मई को बयान जारी कर अपने फैसले की जानकारी दी. ये नाम 1 जनवरी 2019 से 31 दिसंबर 2019 के कार्यकाल के लिए गए हैं.

 

रोहित शर्मा 2019 में वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. इसके साथ ही उन्होंने इंग्लैंड में हुए वर्ल्ड कप में रिकॉर्ड 5 शतकों समेत 548 रन बनाए थे, जो टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन थे. इसके अलावा टी20 में 100 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले पहले पुरुष भारतीय क्रिकेटर भी बने, जबकि टेस्ट में भी साउथ अफ्रीका सीरीज में 3 शतक जड़े.

‘रोहित ने सेट किए कई बेंचमार्क’

इस फैसले पर बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा, “इन नामों के चयन से पहले हमने काफी डेटा देखा और कई पैमानों पर चर्चा की. बतौर बल्लेबाज रोहित ने कई सारे बेंचमार्क तय किए हैं और वो सब हासिल किया है जो कई सारे खिलाड़ी नहीं कर पाए. हमें लगता है कि वह खेल रत्न पाने के हकदार हैं.”

ईशांत, शिखर और दीप्ति के प्रदर्शन की तारीफ करते हुए गांगुली ने कहा, “ईशांत टेस्ट टीम के सबसे सीनियर खिलाड़ी हैं और भारत को नंबर-1 टीम बनाने में उनका बेहतरीन योगदान रहा है. शिखर भी लगातार अच्छा कर रहे हैं और आईसीसी टूर्नामेंट्स में उनका प्रदर्शन काफी अहम रहा है. वहीं दीप्ति बेहतरीन ऑलराउंडर हैं और टीम की सफलता में उनका योगदान भी काफी उपयोगी रहा है.”

Source link